मूली का रायता रेसिपी
Image Source / Wikimedia Commons

मूली का रायता रेसिपी | How To Make Radish Raita

मूली का रायता रेसिपी – मूली के रायता बहुत ही आसानी से बनाये जाने वाला रेसिपी है जिसे कई भी इन सभी स्टेप्स को पूरा करके बना सकता है मूली का रायता बनाने के लिए किसी तजुर्बे या अनुभव की जरूरत नहीं है| मुली का रायता को किसी भी दावत पार्टी, रेस्टुरेंट या ढाबा के मेनू में रखा जा सकता है|

मूली का रायता रेसिपी एक दृष्टी में|

  • वर्गीकरण- शाकाहारी व्यंजन (अतिरिक्त थाली व्यंजन)
  • बनाने में समय- 5 मिनट
  • थाली या प्लेटों की संख्या- 4-5 लोगो के लिए
  • सहायक फ़ूड- दाल-चावल या रोटी या नान के साथ अतिरिक्त व्यंजन के रूप में

मूली का रायता बनाने के लिए आवश्यक सामग्री|

  • फ्रेश मूली 3-4 मुली 6-7 इंच के (कद्दूकस किया हुआ)
  • दही 500 ग्राम
  • हरी मिर्च 1 बारीक़ कटी हुयी
  • अदरक 1 छोटा चम्मच बारीक़ कटा हुआ
  • सफ़ेद गोल मिर्च 6-7 दानें पिसे हुए
  • चीनी(शक्कर) एक बड़ा चम्मच
  • नमक स्वाद के अनुसार
  • गुलाब-जल 1 चम्मच

तडके के लिए सामग्री|

  • राई (सरसों के बिज) 1 छोटा चम्मच
  • जीरा 1 छोटा चम्मच
  • कश्मीरी लाल मिर्च 2-3
  • बटर या घी 1 बड़ा चम्मच

मूली का रायता बनाने की विधि|

सबसे पहले मुली को कद्दूकस करके एक चुटकी नमक मिला कर एक बाउल में 2-3 मिनट के लिए रख दें| जिससे मुली का एक्स्ट्रा पानी निकल जायेगा|

उसके बाद उसे हाथों से दबा दबा कर सारा पानी निचोड़ लें और सूती कपडे पर 5 मिनट के लिए फैला कर रख दे ताकि मूली का एक्स्ट्रा गंध और नमी कम हो जाये|

उसके बाद एक बाउल में दही लें और हैण्ड ब्लेंडर से मिक्स करले| उसके बाद उसमे कद्दूकस किया हुआ मुली डालें फिर उसके बाद चीनी (शक्कर), बारीक कटा हुआ अदरक, बारीक़ कटी हुयी हरी मिर्च , पिसे हुए सफ़ेद गोल मिर्च, गुलाब-जल और स्वादानुसार नमक डालें| उसके बाद सभी को चम्मच के सहायता से मिक्स करें|

अब एक पैन में बटर या घी को गर्म करें और उसमे राई (सरसों के बिज) जीरा और साबुत कश्मीरी लाल मिर्च डालें| उसके बाद चिटकाए, फिर उसके बाद रायते के ऊपर डाले|

हमारा मूली का रायता बनकर तैयार हो गया है| आप खासकर मसाला पनीर और नान के साथ खा सकते है, वैसे तो मुली के रायते को आप जिस तरह से खाना चाहें आप खा सकते है और अपने दोस्तों को खिला सकतें हैं|

मूली खाने के फायदे और नुकसान :-

फ़ायदे|

  • सर्दी-जुकाम में राहत
  • एसिडिटी से छुटकारा
  • पीलिया
  • खून की कमी
  • कैंसर

नुकसान|

  • अत्यधिक सेवन से हाइपरटेंशन या निम्न रक्तचाप की समस्या हो सकती है
  • इसके अधिक सेवन से डिहाइड्रेशन की समस्या हो जाती है
  • किडनी की समस्या हो तो ना ही खाए तो बेहतर है
  • मूली को मछली के साथ ना खाएं
  • मुली को भिन्डी के साथ ना खाएं
  • अगर आपको थाइरोइड की समस्या है तो डाक्टर की सलाह पे ही मूली खाएं

प्रातिक्रिया दे