भिन्डी भुजिया या भिन्डी की सूखी सब्जी

भिन्डी का भुजिया | bhindi ki sukhi sabji – Lady Finger in Hindi

भिन्डी का भुजिया – भिन्डी खाना स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभकारी होता है खासकर डैबेटिक मरीजों के लिए भिन्डी का सेवन रामबाण होता है| भिन्डी से तो वैसे बहुत से व्यंजन बनाये जाते हैं लेकिन उनमे प्रमुख है भिन्डी की भुजिया (भिन्डी की सुखी सब्जी ) , भिन्डी की सब्जी ( ग्रेवी ) , भिन्डी कुरकुरी आदि| आज हम आपको भिन्डी की सूखी सब्जी यानि भिन्डी का भुजिया की रेसिपी के बारे में बताएँगे जो रोटी के साथ खाया जाता है|

भिन्डी की भुजिया एक दृष्टी में | Lady Finger in Hindi

  • वर्गीकरण- शाकाहारी व्यंजन
  • बनाने में लगने वाला समय 15-20 मिनट
  • थाली या प्लेट्स की संख्या – 5-6 लोगों के लिए
  • सहायक व्यंजन- रोटी, सादा पराठे और नान आदि |

भिन्डी की भुजिया बनाने के लिए आवश्यक सामग्री |

  • फ्रेश भिन्डी- 500 ग्राम (पतली और गोलाकार कटी हुयीं)
  • प्याज- 3-4 मीडियम साइज़ कटे हुए (पतले स्लाइसेस)
  • लहसुन की कलियाँ – 4-5
  • हरी मिर्ची- 3-4 बिच से कटे हुए या छोटे टुकड़ों में कटे हुए
  • जीरा – 1 चम्मच
  • हिंग -1 चम्मच
  • काली मिर्च – 1 छोटा चम्मच
  • हल्दी – 1 चम्मच
  • सरसों तेल 3-4 चम्मच
  • नमक स्वादानुसार

भिन्डी का भुजिया बनाने की विधि | Lady Finger in Hindi

भिन्डी को सबसे पहले पानी से धोकर साफ कर लें और पतले पतले आकार में काट लें| उसके बाद कटे हुए भिन्डी को एक बाउल में रख लें | अब प्याज को साफ करके पतले स्लाइसेस में काट लें और इसे भी एक बाउल या कटोरे में एक तरफ रख लें | उसके बाद हरी मिर्ची के टुकड़े कर लें या बिच से चीरा लगा कर रख लें | ऐसे ही लहसुन की कलियों का भी छिलका हटा कर साफ कर लें| दिए गए उपर्युक्त सामग्रियों को इसी प्रकार साफ-सुथरा एक जगह रख लें |

गैस को चालू करे और कड़ाही या पैन में 3-4 चम्मच सरसों तेल गर्म करें | उसके बाद उसमे जीरा, कालीमिर्च और हिंग डालें फिर उसके बाद लहसुन की कलियों और हरी मिर्ची के स्लाइसेस से छौका लगायें | 10-12 सेकेण्ड के बाद कटा हुआ प्याज डालें | प्याज को दो मिनट तक भुने फिर उसके बाद कटी हुयी भिन्डी डालें और 4-5 बार पोने से चलायें फिर कड़ाही या पैन को ढक दें |

दो मिनट के बाद ढक्कन हटायें और चलायें | उसके बाद उसमे हल्दी और स्वाद के अनुसार नमक डालें फिर पौने से चला कर ढक्कन लगा दें | अब 10 मिनट तक ऐसे ही हर 2 मिनट पर ढक्कन हटा कर चलाते रहे और ढक्कन लगा कर पकाएं |

15 मिनट बाद चेक करलें यहाँ भिन्डी की भुजिया बन कर तैयार हो चुकी है अब इसे रोटी या पराठे या नान के साथ खा सकते है | आप अगर बच्चो या अपने लिए लंच में इसे ले जाना चाहे तो ले जा सकते है|

भिन्डी की भुजिया सम्बंधित youtube विडियो जरुर देखें |

भिन्डी की रेसिपी

महत्वपूर्ण टिप्स |

  1. भिन्डी को काटने के बाद पानी से नहीं धोना चाहिए क्योकि भिन्डी के अन्दर पानी जाने से भिन्डी की सब्जी चिपचिपी हो जाती है|
  2. भुजिया या भिन्डी भूनते समय जब आपस में चिपकाने लगे तब 1 चम्मच तेल डाल लें
  3. भिन्डी हमेसा कच्चा (नरम) ही ले पका (कठोर) नहीं |
  4. भिन्डी में ज्यादा मसाले न डाले

प्रातिक्रिया दे